Digestion, Food & Fitness

पेट की बीमारियों के लिए परहेज

                                               पेट की बीमारियों के लिए परहेज
नहीं लेना है :
1. चाय बिलकुल नहीं पीना है.  लेमन टी (नींबू की चाय), ग्रीन टी, दूध में पत्ती  भी नुकसान करती है.

2. काली मिर्च व गरम मसाला. तंबाकू, सिगरेट, बीड़ी, हुक्का, गुल मंजन, पान मसाला, सुपारी, पिपरमेंट.

  1. शराब एवं बियर.
  2. हाजमोला, चूरन, हींगवटी, टॉफी, चॉकलेट आदि.
  3. मसालेदार मीट व मछली.
  4. मसालेदार तली हुई सब्जियां, कोई भी तली चीज, अधिक घी तेल व मक्खन.
  5. सभी खट्टी चीजें, अचार, नींबू, सिरका, चटनी एवं सॉस.
  6. फलों का जूस (घर में निकाल कर भी न लें).
  7. चाइनीज फास्ट फूड, पिज़्ज़ा, बर्गर, मोमोज.
  8. अंगूर, संतरा, मौसमी, कीवी, अनार आदि खट्टे फल.
  9. पुलाव, बिरयानी, चाट, पकौड़े और समोसे.
  10.  दर्द निवारक दवाएं जैसे डिस्प्रिन, ब्रूफेन, कॉम्बीफ्लाम एवं एनाल्जिन.
  11. कॉफी, कोल्ड ड्रिंक, फ्रूटी, डिब्बाबंद फलों का रस, टोमेटो सूप,

ले सकते हैं :
1. रोटी, सब्जी, दाल, सादा चावल, खिचड़ी, दही, दूध, पनीर व दलिया.
2. जीरा, हींग, धनिया, हल्दी, अजवाइन, प्याज, लहसुन आदि मसाले हानि नहीं पहुँचाते हैं. मिर्च बिलकुल न लें तो अच्छा है. कभी कभी बहुत हल्की हरी या लाल मिर्च ले सकते हैं.
3. उबले अंडे, आमलेट, एग फ्राई, अंडे की भुजिया.
4. कम मात्रा में घी, तेल व मक्खन.
5. ताजे व मीठे फल जैसे केला, सेब, अमरुद, पपीता, ककड़ी, खीरा, आम, खरबूजा, तरबूज, आढू, चीकू, नाशपाती आदि. (अच्छी तरह से धो कर और छिलका उतार कर).

  1. टमाटर के अलावा सभी सब्जियां (टमाटर खट्टा होता है इसलिए नुकसान कर सकता है).
  2. सब्जी का सलाद (सब्जियों को अच्छी तरह धोकर व छील कर).
  3. घर पर बनी मिठाई, खीर, हलवा, कस्टर्ड, बहुत कम नींबू की शिकंजी, शरबत, लस्सी, मट्ठा आदि.
  4. बाज़ार की मिठाई में सफ़ेद रसगुल्ला आमतौर पर सुरक्षित होता है. बाहर यदि मज़बूरी में कोल्डड्रिंक पीना पड़े तो ठंडा दूध, पैक्ड मठ्ठा या लस्सी ले सकते हैं. कार्बोनेटेड ड्रिंक्स में लिम्का व स्प्राइट कम नुकसान करते हैं.

विशेष :
1. सबसे अधिक इन्फेक्शन पानी से होते हैं अतः पानी उबालकर या फिल्टर करके पिएं.
2. बाजार में बिकने वाले खाद्य पदार्थ एवं जूस इत्यादि न लें.
3. होटल एवं दावतों के खाने से इंफेक्शन की संभावना अधिक रहती है अतः इन से बचें.
4. फलों को अच्छी तरह से धोकर व छिलका उतारकर प्रयोग करें.
5. सब्जियों को केवल उबाल कर ही खाएं. यह सही है कि कच्ची सब्जियों में विटामिन अधिक होते हैं लेकिन उनसे इन्फेक्शन का डर भी अधिक होता है.
6. जिन लोगों को दस्तों की शिकायत रहती है वे कच्ची सब्जियां सलाद और फल न लें.

7. टमाटर व अरहर की दाल से कुछ लोगों को एसिडिटी होती है यदि ऐसा हो तो उन्हें न लें.
8. खाने के साथ पानी बहुत कम पियें. खाने से आधा घंटा पहले व दो घंटे बाद पानी अधिक पिएं.
9. दूध पीने से किसी किसी व्यक्ति को दस्त हो जाते हैं. ऐसे में दूध से बनी चीजें जैसे चाय, दूध का दलिया, खोया, छेना, पनीर, खीर, आइसक्रीम, कुल्फी, चॉकलेट, दूध की मिठाई आदि न लें. दही मट्ठा जितना चाहे ले सकते हैं. दही खट्टा व ठंडा न हो.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *